♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

राजस्थान में ‘एमएसएमई – प्रेरणा’ का शुभारंभ, एमएसएमई सेक्टर है भारतीय अर्थव्यवस्था का आधार

NCR Times, Jaipur। राजस्थान की मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि एमएसएमई सेक्टर भारतीय अर्थव्यवस्था का आधार है एवं राज्य सरकार एमएसएमई सेक्टर के सुदृढ़ीकरण के लिए निरंतर प्रयासरत है।
मुख्य सचिव सोमवार को सचिवालय में इंडियन बैंक की ओर से एमएसएमई क्षेत्र को सुदृढ़ करने के लिए उद्यमियों को ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम द्वारा व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए आयोजित “एमएसएमई प्रेरणा”  के उदघाटन  कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं।
मुख्य सचिव ने कहा कि एमएसएमई सेक्टर भारतीय अर्थव्यवस्था में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते है तथा भारतीय निर्यात में लगभग 40 प्रतिशत हिस्सेदारी प्रदान करने के साथ-साथ जीडीपी में भी में महत्वपूर्ण योगदान निभाते  है। राज्य सरकार अपनी विभिन्न फ्लैगशिप योजना के माध्यम से निरंतर एमएसएमई सेक्टर के विकास के लिए कार्य कर रही है।
मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कार्यक्रम में वर्चुअली जुड़े 400 से अधिक लोगों को राजस्थान इन्वेस्टमेंट स्कीम, मुख्यमंत्री लघु उधोग प्रोत्साहन योजना, भीमराव अम्बेडकर राजस्थान दलित, आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के माध्यम से एमएसएमई क्षेत्र में दी जा रही रियायतों की जानकारी देते हुए स्पष्ट किया कि राज्य सरकार प्रदेश में एमएसएमई क्षेत्र के विकास के लिए हरसंभव प्रयास करेगी। शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कोविड की वैश्विक महामारी के दौरान एमएसएमई  क्षेत्र को हुए भारी नुकसान से उबारने के उद्देश्य से शुरू की गई फ्लैगशिप योजनाओं  से बड़ी संख्या  में एमएसएमई  इकाइयाँ लाभान्वित हुई है। मुख्य सचिव  ने इंडियन बैंक की इस नवीन पहल की सराहना की तथा आशा व्यक्त की इस प्रशिक्षण कार्यक्रम से सभी  उद्यमी निश्चित रूप से लाभान्वित होंगे तथा राजस्थान के एमएसएमई उद्यमियों में नई ऊर्जा का संचार होगा।

सकारात्मक दृष्टिकोण से बैंक निपटाएं एमएसएमई के मामले

कार्यक्रम में आयुक्त उद्योग एवं एमएसएमई महेंद्र कुमार पारख ने बैंकों से आशा व्यक्त कर कहा कि उन्हें एमएसएमई क्षेत्र में क्लेम सेटलमेंट, क्रेडिट सपोर्ट  से जुड़े मामलो में सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ आगे आने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं है कि एमएसएमई सेक्टर भारतीय अर्थव्यवस्था का आधार है जो कि देश कि एक बड़ी जनसंख्या को रोज़गार प्रदान करता है, आयुक्त उद्योग ने सरकार द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री लघु वाणिज्यिक वाहन स्वरोजगार योजना समेत एमएसएमई सेक्टर के सुदृढ़ीकरण के लिए सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों पर चर्चा की।
उल्लेखनीय है कि इंडियन बैंक ने मैसर्स पूर्णथ कंपनी के साथ मिलकर ये वेब बेस्ड ऑनलाइन कार्यक्रम तैयार किया है, जिसके द्वारा एमएसएमई क्षेत्र को कोविड-19 महामारी से उत्पन्न वर्तमान संकट से उभरने के लिए तथा एमएसएमई उद्यमियों के बीच व्यावसायिक क्षमता और औधौगिक क्षमता विकसित करने हेतु डिजाईन किया गया है ।  इस कार्यक्रम में प्रदेश में स्थित इंडियन बैंक की विभिन्न शाखाओं द्वारा नामित उद्यमियों को प्रशिक्षित किया जाएगा ।
इस अवसर पर आयुक्त उद्योग एवं एमएसएमई महेंद्र कुमार पारख , एवं इंडियन बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी शांति लाल जैन, महाप्रबंधक नई दिल्ली रवींद्र सिंह सहित अन्य उच्च अधिकारी उपस्थित थे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

केंद्र सरकार के कामकाज से क्या आप सहमत हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129