♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

यूसीएसकेएम स्कूल ने जीता अंडर 17 फुटबॉल का खिताब

 

भिवाड़ी के गौरव पथ स्थित प्रेसिडेंसी द इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित 66वीं अंडर 17 फुटबॉल प्रतियोगिता के फाईनल में मंगलवार को यूसीएसकेएम स्कूल ने वीएल मेमोरियल स्कूल अलवर को 1-0 से हराकर खिताब जीत लिया। यूसीएसकेएम की ओर से एकमात्र निखिल ने किया।प्रिंसिपल शालिनी मल्होत्रा ने विजेता व उपविजेता टीम को ट्रॉफी देकर सम्मानित किया। इस मौके पर प्रवक्ता भुवनेश व्यास, फुटबॉल कोच विक्रम सिंह व प्रवीण अरोड़ा सहित अन्य खिलाड़ी थे।

विवादास्पद निर्णय की वजह से अधूरा रहा अंडर 19 फाईनल, दोनों टीमें रहीं संयुक्त विजेता

 मेजबान प्रेसिडेंसी स्कूल व अलवर पब्लिक स्कूल के बीच खेला गया मैच रैफरी के गलत निर्णय की वजह से पूरा नहीं हो सका। भिवाड़ी में पहली बार रैफरी के एकतरफा व विवादास्पद निर्णय की वजह से मैच पूरा नहीं हो सका और लोगों को पूरा मैच देखे बिना मायूस होकर वापस लौटना पड़ा।  हाफ टाईम तक अलवर पब्लिक स्कूल की टीम 1-0 से आगे थी लेकिन इस दौरान अलवर पब्लिक स्कूल के एक खिलाड़ी के गेंद छूने के बावजूद प्रेसिडेंसी स्कूल को पेनल्टी नहीं दी गई। इसके बाद फ्री हिट भी नहीं दिया गया। कोच विक्रम सिंह ने बताया कि फाईनल मैच के सेकंड हाफ में 15 मिनट बीत जाने के बाद भी फ्री किक में प्रेसिडेंसी द इंटरनेशनल स्कूल के द्वारा गोल किए जाने पर निर्णायक   पवन कुमार व रवि शंकर द्वारा उसे स्वीकार नहीं किया गया। संपूर्ण साक्ष्य  ( वीडियो और फ़ोटो) देने के बाद भी निर्णायक मंडल ने उस पर अपनी सहमति नहीं जताई। इस कारण मैच में व्यवधान उत्पन्न हुआ और रैफरी निष्पक्ष होकर अपना फैसला लेने में असमर्थ रहे। उनके इस निर्णय न लेने की असमर्थता के कारण ही मैच का उचित व निष्पक्ष निर्णय नहीं हो पाया औऱ वे निर्णय करने में सर्वथा असमर्थ रहे। शिक्षा विभाग द्वारा लगाए गए  सभी निर्णायक मंडल का पूर्ण सहयोग ना होने के कारण मैच में दोनों ही विद्यालयों  प्रेसीडेंसी  द इंटरनेशनल स्कूल व अलवर पब्लिक स्कूल को संयुक्त विजेता घोषित किया गया।
अंडर 17 की उपविजेता वीएल मेमोरियल स्कूल की टीम।

डीईओ से की मुख्य निर्णायक व रेफरियों की शिकायत

प्रेसिडेंसी स्कूल की ओर से जिला शिक्षा अधिकारी एवं उप जिला   शिक्षा  अधिकारी ( शारीरिक शिक्षा) मामले से अवगत करवाया गया है।प्रिंसिपल शालिनी मल्होत्रा ने बताया कि प्रेसिडेंसी द इंटरनेशनल स्कूल विगत 7 वर्षों से   जिला स्तरीय स्कूल फुटबॉल खेल प्रतियोगिता का  सफलतापूर्वक आयोजन किया जा रहा है। मंगलवार को  66वी जिला स्तरीय अंडर 19  फाइनल मैच में प्रेसीडेंसी  द इंटरनेशनल स्कूल व अलवर पब्लिक स्कूल के बीच में फाईनल मैच से पहले ही मुख्य निर्णायक की भूमिका निभा रहे अशोक तिवारी को मैच निर्णयकों की निष्पक्षता पर प्रेसिडेंसी स्कूल के कोच विक्रम सिंह ने संदेह जताया। उन्होंने निर्णायक मंडल ने दोनों रैफरी के स्थान पर अन्य  रेफरी लगाने की मांग की। मैच निर्णायक की भूमिका निभा रहे पवन कुमार शारीरिक शिक्षक राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पिछाला, दयाशंकर शारीरिक शिक्षक राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय माचा और रवि शंकर तिवारी शारीरिक शिक्षक राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय कैमाला रामगढ़ के एकपक्षीय निर्णय के कारण खेल आयोजन व मैच के दौरान व्यवधान उत्पन्न हुआ। प्रिंसिपल ने बताया कि रैफरी शुरू से संदेह के घेरे में रहे क्योंकि खेल के प्रारंभ से ही समस्त निर्णय एकपक्षीय दिए गए और प्रेसिडेंसी विद्यालय को पहला पेनल्टी किक नहीं दिया गया। इसके अलावा फ्री हिट भी नहीं दिया गया।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

केंद्र सरकार के कामकाज से क्या आप सहमत हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129