♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

भिवाड़ी में अस्ताचलगामी सूर्य को दिया अर्घ्य, घाटों पर बजते रहे छठ के गीत, भक्ति से सराबोर रही औद्योगिक नगरी

भिवाड़ी। औद्योगिक नगरी भिवाड़ी रविवार को भक्ति और आस्था से सराबोर नज़र आई। जगह-जगह पर बने घाटों पर लोग टोकरी में पूजा सामग्री लेकर घाटों पर पहुंचे, जहां व्रतधारियों ने अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया गया। कोरोना के कारण पिछले दो साल से छठ की रंगत दिखाई नहीं दी थी लेकिन इस साल पार्कों में बनाये गए कृत्रिम घाटों पर खासी चहल-पहल रही। घाटों पर सुबह से ही छठी मईया के गीत बज रहे थे और आतिशबाजी भी हो रही थी और चारों तरफ भक्तिमय माहौल दिखाई दे रहा था। भिवाड़ी के यूआईटी सेक्टर पांच यूआईटी सेक्टर पांच में आयोजित छठ पूजा में  छठ पूजा समिति अध्यक्ष मनोज कुमार गुप्ता, उपाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह, चंद्रमा सिंह, अजीत सिंह, संजय सिंह,  अशोक तिवारी, मदन राय, एस. एस. एसोसिएटस के संचालक संतोष सिंह, पंकज तिवारी, रतन मिश्रा, प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, विनय झा सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।
यूआईटी सेक्टर पांच छठ पूजा समिति के सदस्य।
इसके अलावा आरएचबी सेक्टर चार, नया गांव, हिलव्यू गार्डन सोसायटी, चौपानकी, टपूकड़ा, खुशखेड़ा व कारोली सहित आसपास के इलाक़ों में रहने वाले पूर्वांचल के लोगों में छठ को लेकर उत्साह दिखाई दे रहा था। औद्योगिक नगरी व आसपास के इलाकों के तकरीबन पचास से अधिक घाटों पर पूजा के लिए उमड़े लोग धार्मिक आस्था से सराबोर होकर नाचते गाते हुए छठी मईया की महिमा का गुणगान कर रहे थे। लोक आस्था के पर्व छठ पर व्रत रखने वालों के साथ उनके परिवार के लोग बांस व पीतल की टोकरी में नारियल, केला, सेब व अन्य फल लेकर घाटों पर शाम चार बजे के बाद से आने लगे, जिससे माहौल भक्तिमय हो गया। एक ओर जहां व्रतधारी महिलाओं के चेहरों पर भगवान भास्कर को अर्घ्य देने के लिए आतुरता दिखाई दे रही थी जबकि उनके परिवार के लोग भी पूजा के लिए सबसे आगे कतार में खड़े दिखाई दे रहे थे। रविवार की शाम को जैसे ही सूर्य अस्ताचलगामी हुआ, वैसे ही पूर्वांचलवासियों ने डूबते सूर्य को अर्घ्य देकर सुख-समृद्धि की कामना की जबकि सोमवार सुबह उगते सूर्य को अर्घ्य देंगे व छठ का प्रसाद वितरित किया जाएगा। इसके साथ ही चार दिवसीय छठ पर्व का समापन हो जाएगा।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

केंद्र सरकार के कामकाज से क्या आप सहमत हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129