♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

भिवाड़ी में दिवाली पर प्रदूषण से मिली राहत, पिछले साल के मुकाबले आधे से कम रहा प्रदूषण

Bhiwadi. विश्व के सबसे प्रदूषित शहर का खिताब हासिल कर चुकी भिवाड़ी के लिए इस साल दिवाली राहत भरी गुजरी है। प्रत्येक वर्ष दिवाली के अगले दिन प्रदूषण की स्थिति काफी गंभीर रहती थी लेकिन इस साल ग्रेडेड एक्शन रिस्पांस प्लान ( ग्रेप) के तहत एक अक्टूबर से लागू करने से आवश्यक कदम उठाए गए हैं। साथ ही फैक्ट्रियों में कामकाज बंद होने व सड़कों पर वाहन कम चलने से भी प्रदूषण को कम करने में राहत मिली है।
भिवाड़ी में आमतौर पर दिवाली की अगली सुबह प्रदूषण के लिहाज से काफी खराब होती थी लेकिन इस साल भिवाड़ी में दीवाली की अगली सुबह बीते चार साल के दौरान सबसे कम प्रदूषित रही। हालांकि सुबह प्रदूषण का स्तर खराब श्रेणी में ही रहा लेकिन दिन प्रदूषण में कमी आती गई और एयर क्वालिटी इंडेक्स 199 तक आ गया जबकि पिछली दीवाली की अगली सुबह प्रदूषण स्तर गंभीर श्रेणी में पहुंच गया था। बीते वर्षो की तुलना में इस बार प्रदूषण से मिली राहत की वजह सरकार दवारा प्रदूषण को कम करने के लिए की जा रही सख्ती है लेकिन इस सख्ती का पूरी तरह से पालन न होने के कारण प्रदूषण में उतना सुधार नहीं हुआ, जितना होना चाहिए।

सरकारी आदेश रहे बेअसर, प्रतिबंध के बावजूद हुई आतिशबाजी

आतिशबाजी पर प्रतिबंध के बावजूद भिवाड़ी में दिवाली की रात जमकर पटाखे चलाए गए, जिससे प्रदूषण का स्तर बढ़ने की आशंका थी लेकिन मंगलवार सुबह हवा चलने के कारण भी प्रदूषण में कमी आई है। इस साल दिवाली की अगली सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स 199 दर्ज किया गया। वहीं  2021 में 418, 2020 में 348, 2019 में 255 दर्ज किया गया था।  हालांकि पड़ोसी कस्बे धारुहेड़ा की स्थिति खराब रही और दीवाली की अगली सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक 329 तक पहुंच गया।
आंकडों से जाहिर है बीते चार वर्षों में इस बार दीवाली पर सबसे कम प्रदूषण हुआ। पिछले साल दीवाली की अगली सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक 418 दर्ज किया गया था, जो गंभीर श्रेणी में आता है। इस प्रकार पिछली दीवाली बीते चार साल में सबसे ज्यादा प्रदूषित रही। इस साल दीवाली पर पिछले साल की तुलना में हवा चलने के कारण भी प्रदूषण स्तर में कमी आई है।

भिवाड़ी का पिछले चार साल का दिवाली के अगले दिन का एयर क्वालिटी इंडेक्स
25 अक्टूबर 2022       199
पांच नवंबर 2021       418
14 नवंबर  2020        348
28 अक्टूबर 2019       255

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

केंद्र सरकार के कामकाज से क्या आप सहमत हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129