♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

यूपी के फरार आईपीएस मणिलाल पाटीदार ने लखनऊ कोर्ट में किया आत्मसमर्पण, राजस्थान के डूंगरपुर के रहने वाले हैं आईपीएस पाटीदार

Lucknow. उत्तर प्रदेश के फरार आईपीएस मणिलाल पाटीदार ( IPS Manilal Patidar) ने भष्टाचार निवारण अधिनियम लखनऊ की एडीजे कोर्ट में आत्मसमर्पण किया है। पाटीदार को गिरफ्तार करने के लिए एक लाख रुपए का ईनाम रखा गया था लेकिन इसके बावजूद पुलिस उसे पकड़ने में नाकाम रही थी। सरेंडर के बाद आईपीएस ने दावा किया है कि उनको गलत मामले में फंसाया गया है। मणिलाल पाटीदार की फरारी को लेकर योगी सरकार पर सवाल खड़े हो रहे थे। साथ ही, यूपी पुलिस को भी सवालों के घेरे में लिया जा रहा था। शनिवार को पूर्व एसपी के सरेंडर के साथ ही 2 साल पुराने मामले पर एक बार फिर बहस तेज हो गई है।

डेढ़ साल फरार रहने के बाद किया सरेंडर

इसके बाद से ही उत्तर प्रदेश पुलिस को फरार पाटीदार की तलाश थी। यूपी पुलिस के अलावा राजस्थान समेत अन्य राज्यों की पुलिस भी पाटीदार की तलाश में थी, लेकिन करीब डेढ़ साल तक पाटीदार पुलिस के हाथ नहीं लगा  आखिर में आज 15 अक्टूबर को पाटीदार ने खुद लखनऊ की कोर्ट में सरेंडर कर दिया है. मणिलाल पाटीदार पर पुलिस ने एक लाख का इनाम रखा था।

यह है मामला

मणिलाल पाटीदार महोबा के एसपी थे। महोबा के कबरई थाना क्षेत्र के रहने वाले क्रेशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी को 8 सितंबर 2020 के दिन संदिग्ध हालत में गोली लग गई थी। इंद्रकांत ने इलाज के दौरान कानपुर के एक निजी अस्पताल में 13 सितंबर को दम तोड़ दिया था। इंद्रकांत की मौत के बाद उनके भाई रविकांत ने तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। रविकांत ने मणिलाल पाटीदार पर आरोप लगाया था कि मणिलाल उनके भाई से हर महीने 6 लाख रुपये की रिश्वत मांग रहा था, लेकिन जब उन्होंने मना कर दिया तो मणिलाल ने उन्हें धमकाना शुरू कर दिया। इस मामले में मणिलाल पाटीदार अब तक फरार चल रहा है. पिछले महीने उसके ऊपर इनाम 50 हजार रुपये से बढ़ाकर 1 लाख रुपये किया गया है।

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

केंद्र सरकार के कामकाज से क्या आप सहमत हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129