♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

अफगानिस्तान में ताक़तवर जलजले से भीषण तबाही, 1000 लोगों की मौत का अंदेशा

तालिबानी अधिकारियों के अनुसार, अफ़ग़ानिस्तान में आए शक्तिशाली भूकंप में कम से कम 1000 लोगों की मौत हो गई है और 1500 से अधिक घायल हुए हैं.

अफगानिस्तान में बुधवार सुबह को आये खतरनाक जलजले ( भूकंप) से भारी तबाही हुई है। तालिबानी अधिकारियों के अनुसार, अफ़ग़ानिस्तान में आए शक्तिशाली भूकंप में कम से कम 1000 लोगों की मौत हो गई है और 1500 से अधिक घायल हुए हैं। सोशल मीडिया पर आ रही तस्वीरों में वहां हुए भारी भूस्खलन और तहस-नहस हुए मिट्टी के घर दिख रहे हैं।  सबसे ज़्यादा नुक़सान पूर्वी प्रांत पक्तीका में हुआ है, वहां बचाव दल घायलों के इलाज के लिए कोशिश कर रहे हैं। बीबीसी के मुताबिक इस प्रांत में बड़ी संख्या में घर मलबे में तब्दील हो गए हैं। यहाँ से आ रही तस्वीरों में घायलों को स्ट्रेचर में ले जाते देखा जा सकता है। दूर-दराज़ के इलाक़ों से हेलिकॉप्टर के ज़रिए घायलों को अस्पतालों में भर्ती किया जा रहा है। तालिबान के नेता हिब्तुल्लाह अखुंदजादा ने बताया है कि सैकड़ों घर तबाह हो गए हैं और मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है। तालिबान के आपदा प्रबंधन के उप मंत्री शरफ़ुद्दीन मुस्लिम ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि कम-से-कम 920 लोग मारे गए हैं और 600 से अधिक घायल हुए हैं। बचाव दल भूकंप प्रभावित इलाक़ों में पहुंच गया है। तालिबान के एक प्रवक्ता बिलाल करीमी ने ट्वीट के ज़रिए जानकारी दी है कि भूकंप में सैकड़ों लोगों की जान गई है. करीमी ने प्रभावित ज़िलों के नाम नहीं बताए। भूकंप स्थानीय समय के अनुसार, आधी रात के बाद 1.30 बजे (भारत के अनुसार रात 2.30 बजे) आया। उस समय लोग अपने घरों में सो रहे थे। अफ़ग़ानिस्तान के पक्तीका प्रांत के अलावा भूकंप का असर ख़ोस्त, गज़नी,लोगार, काबुल, जलालाबाद और लग़मन में भी हुआ है। तालिबानी अधिकारियों ने राहत एजेंसियों से भूकंप से प्रभावित देश के पूर्वी इलाक़ों में पहुंचने का अनुरोध किया है। एक स्थानीय डॉक्टर ने बीबीसी को बताया है कि हताहत होने वाले ज़्यादातर लोग पक्तीका प्रांत के गयान और बरमाल ज़िलों के हैं। स्थानीय वेबसाइट इतिलाते रोज़ के अनुसार गयान ज़िले का एक पूरा गांव बर्बाद हो गया है।

अफगानिस्तान में आये जलजले से दिखाई दे रहा तबाही का मंज़र।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें


स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे
Donate Now
               
हमारे  नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट , और सभी खबरें डाउनलोड करें
डाउनलोड करें

जवाब जरूर दे 

केंद्र सरकार के कामकाज से क्या आप सहमत हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129